राव इंद्रजीत सिंह ने योजना राज्‍यमंत्री (स्‍वतंत्र प्रभार) का कार्यभार संभाला

Spread the love

2022 तक नए भारत के निर्माण के लिए काम करने पर जोर रहेगा – राव इंद्रजीत
सिंह समेकित वृद्धि और विकास हमारी प्राथमिकता – राव इंद्रजीत सिंह

राव इंद्रजीत सिंह ने आज नीति आयोग में योजना राज्‍यमंत्री
(स्‍वतंत्र प्रभार) का कार्यभार संभाल लिया है। उन्‍होंने कहा कि 2022 तक
नए भारत के निर्माण के लिए काम करने पर जोर रहेगा। इसके साथ ही उन्‍होंने
कहा कि समेकित वृद्धि और चौतरफा विकास हमारी प्राथमिकताएं होंगी।

    राव इंद्रजीत सिंह ने 5 जुलाई, 2016 से 3 सितंबर, 2017 तक योजना
राज्‍यमंत्री (स्‍वतंत्र प्रभार), शहरी विकास राज्‍यमंत्री और आवास एवं
शहरी गरीबी उन्‍मूलन राज्‍यमंत्री के रूप में काम किया है। उन्‍होंने 9
नवंबर, 2014 से 5 जुलाई, 2016 तक योजना राज्‍यमंत्री (स्‍वतंत्र प्रभार),
रक्षा राज्‍यमंत्री के रूप में भी काम किया है। श्री सिंह ने 27 मई, 2014
से 9 नवंबर, 2014 तक योजना राज्‍यमंत्री (स्‍वतंत्र प्रभार), सांख्यिकी
और कार्यक्रम क्रियान्वयन और रक्षा राज्‍यमंत्री के रूप में काम किया है।

      लोकसभा सांसद के रूप में यह श्री राव इंद्रजीत सिंह का पांचवां
कार्यकाल है। इससे पहले उन्होंने 2014 में 16वीं लोकसभा एवं 2009 में
15वीं लोकसभा में गुरुग्राम संसदीय क्षेत्र का और 2004 में 14वीं लोकसभा
एवं 1998 में 12वीं लोकसभा में महेन्‍द्रगढ़ संसदीय क्षेत्र का तिनिधित्व
किया था। वे हरियाणा में जाटुसाना (अब कोसली) विधान सभा क्षेत्र से 4 बार
1977-1982, 1982-1987, 1991-1996, और 2000-2004 तक विधायक भी रहे। वे
हरियाणा सरकार में 1991-1996 तक कैबिनेट मंत्री रहे। उन्‍होंने पर्यावरण
एवं वन और चिकित्सा और तकनीकी शिक्षा मंत्री के रूप में काम किया।
उन्होंने 1986-1987 तक योजना खाद्य और नागरिक आपूर्ति राज्‍यमंत्री
(स्‍वतंत्र प्रभार) के रूप में भी काम किया।