यातायात व्यवस्था सुचारू बनाए रखने के दृष्टिगत एक कार्य योजना तैयार की गई

हिमाचल
Spread the love

शिमला 29 मई,
शिमला शहर में पर्यटन सीज़न एवं आम लोगों की सुविधा के लिए यातायात व्यवस्था सुचारू बनाए रखने के दृष्टिगत एक कार्य योजना तैयार की गई है। इस संबंध में आज यहां उपायुक्त शिमला राजेश्वर गोयल की अध्यक्षता में एक बैठक आयोजित की गई। 
राजेश्वर गोयल ने बैठक को संबोधित करते हुए सभी संबंधित अधिकारियों को निर्देश दिए कि कार्य योजना का पालन सुनिश्चित बनाया जाए और सभी विभाग इस दिशा में पूर्ण सहयोग प्रदान करें। उन्होंने कहा कि पर्यटन सीज़न एवं लोगों की सुविधा के लिए आवश्यक है कि शहर की यातायात व्यवस्था सुचारू बनी रहे। 
उपायुक्त ने कहा कि यातायात व्यवस्था को सुचारू बनाने के लिए पुलिस अधीक्षक शिमला एवं अन्य विभागों की ओर से कुछ सुझाव दिए गए थे। उन्होंने कहा कि शिमला स्थित पुराने बस अड्डे पर विभिन्न क्षेत्रों से आने वाली लम्बी दूरी की बसों के नियमन के संबंध में शीघ्र ही निर्णय लिया जाएगा। उन्होंने क्षेत्रीय परिवहन अधिकारी शिमला, उपमंडलाधिकारी शहरी एवं ग्रामीण तथा हिमाचल पथ परिवहन निगम के क्षेत्रीय प्रबंधक को इन बसों के संबंध में पूर्व में लिए गए निर्णयों की समीक्षा कर उचित कार्यवाही करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि इस संबंध में कोई भी निर्णय लेते समय आमजन की सुविधा का ध्यान रखा जाएगा। 
राजेश्वर गोयल ने कहा कि शिमला शहर में वर्तमान में बस ठहराव के लिए 53 स्थान अधिसूचित किए गए हैं। उन्होंने पुलिस विभाग को निर्देश दिए कि यह सुनिश्चित बनाया जाए कि सभी बसें केवल अधिसूचित स्थानों पर ही ठहरें। इस संबंध में नियमों की अनुपालना न करने पर कड़ी कार्यवाही अमल में लाई जाए। 
उन्होंने कहा कि रेलवे स्टेशन के समीप प्रतिदिन प्रदेश पथ परिवहन निगम की बसों में विभिन्न स्थानों से डाक लाई जाती है। यहीं से बसों द्वारा डाक विभिन्न स्थानों तक लेकर भी जाई जाती है। इस कारण यातायात अवरूद्ध होता है। उन्होंने निर्देश दिए कि इस स्थान पर डाक उतारना व चढ़ाना पूर्ण रूप से बंद किया जाए। उन्होंने निर्देश दिए कि प्रथम जून, 2019 से डाक विभाग इस संबंध में वैकल्पिक व्यवस्था बनाए। 
उपायुक्त ने कहा कि शहर में विभिन्न स्थानों पर परिवहन निगम की बसों के खराब होने से यातायात प्रतिदिन अवरूद्ध हो रहा है। उन्होंने हिमाचल पथ परिवहन निगम को निर्देश दिए कि खराब बसों तक ‘राईडर’ के माध्यम से शीघ्र मैकेनिक पहुंचाना सुनिश्चित बनाएं, ताकि खराब बसों को जल्दी ठीक किया जा सके। 
उन्होंने पथ परिवहन निगम को निर्देश दिए कि टूटीकंडी स्थित अंतरराज्यीय बस अड्डे से लोकल बस अड्डे तक नियमित बस सेवा सुचारू रखी जाए। 
उन्होंने कहा कि शिमला शहर एवं आसपास के क्षेत्रों में पर्यटकों तथा स्थानीय निवासियों की सुविधा के लिए महत्वपूर्ण स्थानों पर उचित दिशा निर्देश चिन्ह पट्टिकाएं स्थापित की जाएंगी। इस दिशा में होटल ऐसोसिएशन द्वारा भी सहयोग दिया जाएगा। उन्होंने लोक निर्माण विभाग को निर्देश दिए कि सूचनापट स्थापित करने के लिए शीघ्र कार्यवाही अमल में लाएं। 
राजेश्वर गोयल ने कहा कि पर्यटकों की सुविधा के लिए संकट मोचन, अंतर्राज्यीय बस अड्डा टूटीकंडी एवं क्राॅसिंग पर डिजिटल सूचनापट स्थापित किए जाएंगे। 
उन्होंने लोक निर्माण विभाग को निर्देश दिए कि शहर एवं आसपास के क्षेत्रों में दिन के समय सड़कों की टारिंग का कार्य न किया जाए। उन्होंने नगर निगम शिमला, खाद्य आपूर्ति एवं पुलिस विभाग को अन्य आवश्यक निर्देश भी जारी किए। 
 उन्होंने नगर निगम शिमला को निर्देश दिए कि नगर निगम शिमला के कूड़ा एकत्र करने वाले वाहन दिन के समय शहर में प्रवेश न करें। उन्होंने नगर निगम को निर्देश दिए कि इस संबंध में उचित व्यवस्था बनाई जाए, ताकि लोगांे को परेशानी का सामना न करना पड़े और शहर में यातायात भी अवरूद्ध न हो। 
राजेश्वर गोयल ने लोगों से आग्रह किया कि वे यातायात व्यवस्था को सुचारू बनाए रखने में अपना पूर्ण सहयोग दें और वाहनों की बेतरतीब पार्किंग न करें। 
अतिरिक्त जिला दण्डाधिकारी कानून एवं व्यवस्था प्रभा राजीव, क्षेत्रीय परिवहन अधिकारी भूपेन्द्र अत्री, उपमंडलाधिकारी शिमला ग्रामीण नीरज गुप्ता, उपमंडलाधिकारी शिमला शहरी नीरज चांदला, उप पुलिस अधीक्षक कमल वर्मा, नगर निगम शिमला, लोक निर्माण विभाग तथा प्रदेश पथ परिवहन निगम के अधिकारी एवं होटल ऐसोसिएशन के अध्यक्ष मोहिन्द्र सेठ एवं अन्य प्रतिनिधि भी बैठक में उपस्थित थे।

Leave a Reply