उपायुक्त शिमला राजेश्वर गोयल नेविश्व तंबाकू निषेध दिवस पर एक दिवसीय कार्यशाला की अध्यक्षता

हिमाचल
Spread the love

शिमला 31 मई,
उपायुक्त शिमला राजेश्वर गोयल ने आज यहां विश्व तंबाकू निषेध दिवस पर एक दिवसीय कार्यशाला की अध्यक्षता की। इस कार्यशाला में उन्होंने तंबाकू व उसके हानिकारक परिणामों से अवगत करवाया तथा कोटपा अधिनियम 2003 पर विस्तृत जानकारी प्रदान की। 
उन्होंने बताया कि तंबाकू के प्रयोग व उसकेे आकर्षक विज्ञापनों से युवा पीढ़ी पर बुरा प्रभाव पड़ता है तथा वे धूम्रपान की ओर आकर्षित होते हैं तथा फेफड़े के कैंसर से ग्रसित हो जाते हैं। 
उन्होंने बताया कि स्वास्थ्य विभाग के आंकड़ों के तहत 17 प्रतिशत व्यसक प्रदेश में तंबाकू का सेवन करते हैं और इन कारणों से मुंह व फेफड़े के कैंसर दर में वृद्धि हो रही है। 
उन्होंने बताया कि शिक्षण संस्थानों के आसपास तंबाकू बेचना अपराध है और अभिभावक व शिक्षक इस दिशा में सकारात्मक योगदान दे सकते हैं। 
उपायुक्त ने नगर निगम, स्वास्थ्य विभाग, विभिन्न संस्थाओं के स्वयं सेवकों, अभिभावकों व मीडिया से आह्वान किया कि वे तंबाकू के दुष्परिणामों से समाज को जागरूक करें, ताकि युवा पीढ़ी इसके सेवन को तरजीह न दें और स्वस्थ भारत का निर्माण संभव हो सके। 
इस अवसर पर समाजसेवी शिवदत्त भारद्वाज, सेवानिवृत आईएएस श्रीनिवास जोशी, अतिरिक्त जिला दंडाधिकारी कानून एवं व्यवस्था प्रभा राजीव व अन्य अधिकारी भी उपस्थित थे। 

Leave a Reply