निःस्वार्थ भाव से की गई सेवा ही मानवता की सबसे बड़ी पूजा है–सुरेश भारद्वाज

हिमाचल
Spread the love

शिमला 05 जून,
शिक्षा, विधि एवं संसदीय कार्य मंत्री सुरेश भारद्वाज ने कहा कि निःस्वार्थ भाव से की गई सेवा ही मानवता की सबसे बड़ी पूजा है तथा संत निरंकारी मिशन द्वारा इस दिशा में किया जा रहा कार्य सराहनीय है। सुरेश भारद्वाज आज यहां विश्व पर्यावरण दिवस के अवसर पर संत निरंकारी चैरिटेबल फांउडेशन द्वारा आयोजित कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहे थे।
सुरेश भारद्वाज ने कहा कि सभी धर्मों में मानवीय मूल्यों की रक्षा एवं परोपकार तथा सभी जीवों की सहायता को परम धर्म बताया गया है। इस दिशा में सभी मनुष्यों को सोच विचार कर कार्य करने की आवश्यकता है। उन्होंने कहा कि आज के दबाव एवं भागदौड़ के जमाने में मनुष्य द्वारा मनुष्य की सहायता एवं सेवा सभी के लिए आवश्यक है।
सुरेश भारद्वाज ने कहा कि संत निरंकारी मिशन के सदस्यों द्वारा स्वच्छता, पौध रोपण, रक्तदान तथा अनेक सामाजिक कार्यों को व्यवहारिक रूप से अपनाया गया है, जिससे प्रदेश व देश में जरूरतमंद लोगों को राहत मिली है। उन्होंने कहा कि मिशन का प्रत्येक सदस्य हृदय से समाज सेवा के कार्य करता है और इससे समाज के सभी वर्ग लाभान्वित होते हैं। उन्हांेने कहा कि समाज को आज आवश्यकता है, ऐसे ध्येयकर्ताओं की जो ऐसे पुनीत कार्यों में सहयोग प्रदान कर न केवल प्रदेश, बल्कि देश को भी उन्नति और प्रगति के पथ पर अग्रसर करें।
शिक्षा मंत्री ने कहा कि स्वच्छता व पर्यावरण संरक्षण आज की सबसे बड़ी मांग है, जिसके लिए समाज के विभिन्न वर्गों का सहयोग अत्यंत आवश्यक है। सरकार सुविधाएं प्रदान कर सकती है, किंतु उन सुविधाओं को अपनाकर विकास में योगदान देने के लिए सभी का सहयोग जरूरी है।
नगर निगम शिमला की महापौर कुसुम सदरेट ने इस अवसर पर कहा कि संत निरंकारी मिशन के सदस्यों ने अपनी सेवा भाव से सभी को उचित मार्ग दिखाया है। उन्होंने कहा कि मिशन की सामाजिक कार्यों के प्रति विभिन्न मांगों को प्राथमिकता के आधार पर पूर्ण करने का प्रयास करेंगे।
उपमंडलाधिकारी नीरज चांदला ने कहा कि प्रशासन की ओर से संत निरंकारी मिशन को हर संभव सहायता प्रदान की जाएगी।
संत निरंकारी मिशन की शिमला जोन की प्रमुख रजवंत कौर ने कहा कि पर्यावरण संरक्षण के लिए हमें बाह्य स्वच्छता के साथ-साथ आंतरिक स्वच्छता पर भी ध्यान देना होगा। यह केवल विचारों की शुद्धता से ही संभव है। उन्होंने कहा कि हम पर्यावरण संरक्षण, विविध स्वच्छताओं के साथ-साथ मानसिक विचारों की शुद्धता के लिए आत्म चिंतन करें।
संत निरंकारी मिशन की प्रशासक रमण सिंह ने अपने संदेश में लोगों से वातावरण को स्वच्छ रखने की अपील की। उन्होंने संत निरंकारी मिशन द्वारा विभिन्न क्षेत्रों में किए जा रहे सामाजिक कार्यों तथा अन्य सामाजिक सरोकारों के बारे में भी अवगत करवाया।
इस अवसर पर उप महापौर राकेश शर्मा, पार्षद राजीव शर्मा, पूर्व महापौर मधु सूद एवं अन्य गणमान्य लोग उपस्थित थे।
.0.

Leave a Reply