आदर्श आचार संहिता के उल्लंघन पर कोई रोक नही

हिमाचल
Spread the love

शिमला,18 अक्टूबर 2019

कांग्रेस ने प्रदेश के चुनाव विभाग की कार्य प्रणाली पर सवाल उठाते हुए कहा है कि वह आदर्श आचार संहिता की शिकायतों पर कोई ठोस कार्यवाही नही कर रहा है।केवल मात्र औपचारिकता के तौर पर नोटिस तो जारी किये जा रहे हैं,पर आदर्श आचार संहिता के उल्लंघन पर वह कोई रोक नही लगा पा रहा है।ऐसे में प्रदेश के चुनाव अधिकारियों व उन के कार्यालय के कामकाज पर आज बड़ा सवाल पैदा हो गया है की क्या चुनाव विभाग चुनाव के समय ऐसा ही मूक दर्शक बना रहेगा।

प्रदेश अध्यक्ष कुलदीप सिंह राठौर ने आज फिर से चुनाव विभाग की कार्यप्रणाली को लेकर कई सवाल उठाते हुए उन्हें इस बारे फिर से एक पत्र लिखा है।उन्होंने कहा है कि किसी भी संबैधानिक संस्था पर कभी कोई सवाल नही उठना चाहिए, और अगर उठता है तो यह गंभीर मसला हो सकता है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस की शिकायतें पूरी तरह तथ्यों पर प्रमाण के साथ देने के बाबजूद भी उन पर समय पर कोई ठोस कार्यवाही न होना कई संदहे पैदा करता है।

राठौर ने कहा है कि पच्छाद और धर्मशाला में प्रदेश सरकार के मंत्री खुले तौर पर आदर्श आचार संहिता का उलंघन कर रहे है।कहीं पैसे बांटे जा रहे है तो कहीं रातों रात सड़क निर्माण कार्य किया जा रहा है, कहीं पाईपों के ट्रक भेजे जा रहे है तो कहीं चुनाव के बाद कर्मचारियों को देख लेने तक की धमकियां दी जा रही है।यह सब तब हो रहा है जब प्रदेश में उपचुनाव हो रहे है।

राठौर ने कहा है कि प्रदेश में ऐसा पहली बार हो रहा है कि जब बड़े पैमाने पर आदर्श आचार संहिता की खुले आम धज्जियां उड़ाई जा रही हो और चुनाव अधिकारी बेबस नज़र आ रहे हो।उन्होंने अपनी मांग फिर दोहराई है कि आदर्श आचार संहिता के उल्लंघन के दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्यवाही करते हुए इन्हें चुनाव प्रचार से तुरंत हटाने के निर्देश जारी किये जाए।

राठौर ने इस पर भी शंका जाहिर की है कि कही भाजपा के यह नेता ई वी एम पर भी कोई सेंधमारी करने की कोशिश न करें।चुनाव से पहले और चुनाव के बाद इनकी सुरक्षा में कोई कुताही न बरती जाये।उन्होंने मांग की है कि यह पूरी तरह से अर्ध सैन्य बलों के पास ही रहनी चाहिए।

Leave a Reply