आर्थिक रूप से कमजोर व्यक्तियों के लिए सहारा योजना होगी मील का पत्थर साबित- डा0 प्रकाश दरोच

देश
Spread the love

बिलासपुर 21 अक्तूबर- मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉक्टर प्रकाश दरोच ने
जानकारी देते हुए बताया कि हिमाचल प्रदेश सरकार ने प्रदेश के आर्थिक रूप
से कमजोर वर्ग के लिए कुछ निर्दिष्ट रोगों से पीड़ित होने पर सामाजिक
सुरक्षा व वित्तीय सहायता प्रदान करने के लिए सहारा योजना शुरू की है।
उन्होंने बताया कि इस योजना का मुख्य उद्देश्य लंबी अवधि तक उपचार के
दौरान रोगियों व उनके परिजनों को आने वाली वित्तीय समस्याओं को हल करना
है। उन्होंने बताया कि इस योजना के अंतर्गत पार्किंसन रोग , मस्कुलर
डिस्ट्रॉफी, थैलेसीमिया, घातक कैंसर रोग, हीमोफीलिया, गुर्दे की विफलता
और दूसरे कई अन्य तरह के रोग जो किसी रोगी को अक्षम करती हैं बीमारियां
शामिल है। उन्होंने बताया कि आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग को जो एकल परिवार
से संबंध रखते हैं, को 2 हजार रूपए की मासिक वित्तीय सहायता सरकार द्वारा
प्रदान की जाएगी। उन्होंने बताया कि यह वित्तीय सहायता लाभार्थी के सीधे
खाते में जमा होगी।
उन्होंने बताया कि इस योजा का लाभ लने के लिए रोगी व्यक्ति जिस
परिवार से संबंध रखता है उसकी आय चार लाख वार्षिक से कम होनी चाहिए।
निर्धारित प्रपत्र के साथ दिए जाने वाले आवश्यक दस्तावेज जैसे बीमारी के
दस्तावेज, फोटो पहचान दस्तावेज, आय प्रमाण पत्र, जीवन प्रमाण पत्र,स्थाई
प्रमाणपत्र, वी पीएल प्रमाणपत्र, बैंक खाते की पूरी जानकारी इत्यादि
समस्त दस्तावेज सहित अपने क्षेत्र की आशा वर्कर, स्वास्थ्य कार्यकर्ता,
खंड चिकित्सा अधिकारी अथवा मुख्य चिकित्सा अधिकारी बिलासपुर से संपर्क
करें। उन्होंने बताया कि इस योजना के अंतर्गत सरकारी एवं पैंशन भोगी
व्यक्ति जोकि चिकित्सा प्रतिपूर्ति का लाभ उठाते हैं वे इस योजना के
पात्र नहीं होंगे। यह योजना आर्थिक रूप से कमजोर प्रदेशवासियों के बेहतर
स्वास्थ्य लाभ के लिए एक मील पत्थर साबित होगी।

Leave a Reply