बागवानों के ज्वलन्त मुद्दो को जल्द ही सरकार के समक्ष उठाया जाएगा:दीपक राठौर

राजनीति हिमाचल
Spread the love
शिमला। कुलदीप  सिंह कँवर। राजीव गांधी पंचायती राज संगठन द्वारा किसान बागवान  की समस्याओं को लेकर एक पत्र व पत्रकार वार्ता की गई  जिसमें उन्होंने सेव बागवान   के ज्वलंत मुद्दे उठाए राजीव गांधी पंचायती राज संगठन के सम्यक दीपक राठौर ने कहा कि हम सरकार के पास जनता के मुद्दों को लेकर जाएंगे तथा उनकी समस्याओं के निदान के लिए सरकार से गुहार करेंगे यदि इनकी समस्याएं ना सुनी गई तो हमें मजबूरन जोरदार आंदोलन करने होंगे उन्होंने कहा कि प्रदेश में 4000 करोड रुपए का कारोबार से उत्पादन से किया जाता है हालांकि हम यूं कहें कि सेब उत्पादन किसान बागवानो की रीड की हड्डी है इस साल यदि उत्पादन देखा जाए तो काफी कम हुआ है हालांकि कृषि विभाग द्वारा चार करोड़पति उत्पादन का अनुमान लगाया गया था लेकिन केवल ढाई करोड पेटी उत्पादन ही हो पाया इसके पश्चात किसान भगवानों किसे की फसल अनुमान से कम हुई है कम होने के कारणों का सरकार कोई निवारण नहीं कर पा रही है पहले उत्पादन कम ऊपर से सेब की कीमत भी मंडियों में कम मिल रही है यदि हम पिछले 10 सालों का आंकड़ा देखें तो इतना उत्पादन पिछले 10 साल पहले हुआ करता था आज 21वीं सदी में भी उत्पादन उतना ही हो पा रहा है उन्होंने कहा कि हमने किसान बागवान सेब लता नी आरती तीनों से विचार विमर्श करके सी भगवानों की जो भी समस्याएं हैं उन्हें लेकर सरकार के समक्ष रखेंगे उन्होंने कहा कि पहली ज्वलंत समस्या यह है कि पहाड़ी इलाकों में जगह-जगह अनगिनत आढ़ते  खुल चुकी हैं जिसके कारण सेब के सही मूल्य का अनुमान लगाना मुश्किल हो जाता है हम सरकार से गुहार करेंगे कि एक बड़ा यार बनाया जाए जिसमें सभी सेब उत्पादक एक जगह अपना माल दे सके वह सही कीमत भी वसूल कर पाए उन्होंने आगे कहा कि दूसरी समस्या है कि इन छोटी-छोटी मंडियों में यदि 20000 की खपत है तो वहां 50000 के लिए आती है जिससे सेवों  की कीमत का गिरना स्वभाविक है यदि एक की यार्डों  में यह सभी पेटियां होती सभी एक जगह आढ़त   लगानी होती  तो सेब के मूल्य का उचित दाम मिलता इसी तरह भगवानों की समस्या है कि सरकार द्वारा कोई उचित कोल्ड स्टोर  नहीं बनाए गए हैं हालांकि बड़ी-बड़ी कंपनियों ने कोल्ड स्टोर  बनाए हैं वह केवल अपना सेव उनमें रखते हैं किसान बागवान का माल यदि कीमत कम मिल रही हो तो वह अपने सेब को कोल्ड स्टोर  में रख सकें उन्होंने कहा कि हम सरकार से मांग करते हैं कि पिछली सरकार द्वारा कोल्ड स्टोर  बनाने की योजना है जोकि विश्व बैंक द्वारा भी स्वीकृत की जा चुकी है उसे जल्द से जल्द लागू करें ताकि सीए स्टोर बंद कर आगामी वर्ष सेब उत्पाद को सीए स्टोर में रखा जा सके इस बार दीपक राठौड़ ने कहा कि इस बार सेब की दवाइयों में भी काफी मिलावट पाई गई है दवाइयां छिड़कने के बाद केवल से विशेष नजर आते थे और पेड़ों में पत्ते कम से ज्यादा जिससे भगवानों को काफी नुकसान उठाना पड़ा लेकिन सरकार का इस ओर कोई ध्यान नहीं है उन्होंने कहा कि हम सरकार से मांग करते हैं कि सरकार फ्रूट वह प्रोसेसिंग यूनिट उत्तम किस्म के लगाएं ताकि बागवानो को लाभ मिल सके दीपक राठौड़ ने कहा कि राजीव गांधी पंचायती राज संगठन छह सदस्यों की कमेटी नियुक्त करेगा तथा सभी पंचायतों से सदस्यों को चयनित कर के सेब उत्पादकों की समस्याओं को उजागर कर सरकार के समक्ष रखेंगे इन सभी समस्याओं को लेकर हम प्रशासन व सरकार के पास समय व तरीके से रखेंगे यदि सरकार हमारी समस्याओं को नहीं सुनती तो हम तो एक विशाल आंदोलन किया जाएगा।  

Leave a Reply