संबेधानिक पद चुनाव प्रचार में हिस्सा नहीं लेते थे- कुलदीप सिंह राठौर

देश
Spread the love

शिमला,12 अक्टूबर 2019
कांग्रेस ने मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर के उस बयान की जिसमें उन्होंने कहा है कि बहुमत वाले राज्यों में विधानसभा अध्यक्ष और उपाध्यक्ष चुनाव प्रचार में भाग लेते है पर हैरानी जताई है।कांग्रेस ने मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर से पूछा है कि क्या इससे पूर्व प्रदेश में अल्प मत की सरकारें रही है,जो उस समय संबेधानिक पद चुनाव प्रचार में हिस्सा नहीं लेते थे।

प्रदेश अध्यक्ष कुलदीप सिंह राठौर ने मुख्यमंत्री के बयान पर कड़ा एतराज जताते हुए कहा है कि प्रदेश में उन्हें ऐसी कोई गलत परम्परा शुरू नही करनी चाहिए जिससे देश के संविधान को कोई खतरा पहुंचे।उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री का यह बयान अति दुर्भाग्यपूर्ण है।उनके बयान से तो ऐसा लगता है कि मुख्यमंत्री उन्हें खुद चुनाव प्रचार के लिये उकसा रहे हो।उन्होंने कहा है कि अगर मुख्यमंत्री को विंदल के चुनाव प्रचार की ही आवश्कता है तो उन्हें विधानसभा अध्यक्ष पद से तुरंत हटाते हुए उन्हें मंत्री पद दे देना चाहिए जिससे उनकी मंत्री पद की महत्वकांक्षा भी पूरी हो जाये,और पार्टी का चुनाव प्रचार भी।

              उन्होंने कहा है कि चुनाव आयोग को मुख्यमंत्री के इस बयान पर भी कड़ी कार्यवाही करनी चाहिए।मुख्यमंत्री का यह बयान भी आदर्श आचार संहिता के दायरे में लिया जाना चाहिये।

राठौर ने कहा है कि पच्छाद और धर्मशाला में होने वाले इन उपचनावो में कांग्रेस की मजबूती देख कर भाजपा परेशानी में है।इसी के चलते उसने पूरा सरकारी तंत्र चुनाव प्रचार में झोंक दिया है।आदर्श आचार संहिता का उसे कोई डर नही हैं।उन्होंने कहा है कि कांग्रेस भाजपा के किसी भी हथकंडे को सफल नही होने देगी।अगर उसने संबिधान से किसी भी प्रकार से खिलवाड़ करने की कोई कोशिश की तो इसके गंभीर परिणाम भुगतने को भी वह तैयार रहें।

               राठौर ने चुनाव आयोग से आग्रह किया है कि वह अपने संबेधानिक कर्तव्यों का पूरी निष्ठा से पूरा करें,जिससे देश के लोकतंत्र और इसकी आस्था पर किसी भी प्रकार की कोई ठेस न लगे।

Leave a Reply