प्रधानमंत्री ने हिन्दुस्तान टाइम्स लीडरशिप समिट को संबोधित किया

Spread the love
Read Time0 Second

07 DEC 2019

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने नई दिल्ली में 17वीं हिन्दुस्तान टाइम्स लीडरशिप समिट में उद्घाटन भाषण दिया।

प्रधानमंत्री ने कहा कि किसी भी समाज, किसी भी देश के विकास के लिए संवाद महत्वपूर्ण है। उन्होंने कहा कि संवाद बेहतर भविष्य की नींव रखता है। प्रधानमंत्री ने कहा कि सरकार सबका साथ सबका विकास सबका विश्वास मंत्र के साथ वर्तमान चुनौतियों और समस्याओं पर काम कर रही है।

http://164.100.117.97/WriteReadData/userfiles/image/LKM_7616BNLA.JPG

सरकार द्वारा लिए गए विभिन्न निर्णयों के बारे प्रधानमंत्री ने कहा कि अनुच्छेद 370 को निरस्त करने से जम्मू और कश्मीर तथा लद्दाख के लोगों को आशा की एक नई किरण मिली है। मुस्लिम महिलाएं अब तीन तलाक की परंपरा से मुक्त हैं, अवैध कॉलोनियों पर फैसले से 40 लाख लोगों को लाभ मिला। प्रधानमंत्री ने कहा कि एक बेहतर कल के लिए, एक नये भारत के लिए ऐसे कई निर्णय लिए गए हैं।

प्रधानमंत्री ने कहा कि सरकार अब उन जिलों पर ध्यान केन्द्रित कर रही है जो स्वास्थ, स्वच्छता और बुनियादी ढांचे के कई संकेतकों में पीछे छूट गये थे। उन्होंने कहा कि 112 जिलों को विकास और शासन के प्रत्येक मानदंड के आधार पर, अकांक्षी जिलों के रूप में विकसित किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि सरकार इन जिलों में कुपोषण, बैंकिंग सुविधाओं, बीमा, बिजली और अन्य सुविधाओं के लिए विभिन्न मानकों पर रियल टाइम मॉनिटरिंग कर रही है। उन्होंने कहा कि इन 112 जिलों का बेहतर भविष्य देश के लिए बेहतर कल को सुनिश्चित करेगा।

उन्होंने जल जीवन मिशन के बारे में उल्लेख किया और कहा कि सरकार 15 करोड़ घरों को पाइप जलापूर्ति से जोड़ रही है। प्रधानमंत्री ने कहा कि सरकार भारत को 5 ट्रिलियन डॉलर की अर्थव्यवस्था बनाने के लिए प्रतिबद्ध है और इस लक्ष्य को पाने के लिए सरकार एक सक्षम, मददगार और प्रोत्साहक के रूप में काम कर रही है।

प्रधानमंत्री ने कहा कि कई आर्थिक सुधार जैसे ऐतिहासिक बैंक मर्जर, श्रम कानूनों की संहिता बनाना, बैंकों के पुनर्पूंजीकरण, कॉरपोरेट करों में कमी जैसे कदम उठाए गए। उन्होंने कहा कि इजी ऑफ डूइंग बिजनेस रैंकिंग में भारत सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन किया है। उन्होंने बताया कि पिछले पांच वर्षों के दौरान भारत की रैकिंग में 79 रैंकिंग का सुधार हुआ है। उन्होंने कहा कि रुकी हुई आवासीय परियोजनाओं के वित्तपोषण के लिए 25 हजार करोड़ का फंड बनाया गया है। उन्होंने कहा कि सरकार 100 लाख करोड़ की बुनियादी ढांचा परियोजनाओं की शुरुआत कर रही है।

प्रधानमंत्री ने उल्लेख किया कि भारत का यात्रा एवं पर्यटन प्रतियोगितात्मकता सूचकांक में 34 वां स्थान है। उन्होंने बताया कि पर्यटन गतिविधियों के बढ़ने से रोजगार के अवसरों का सृजन होगा, खासकर गरीबों के लिए। उन्होंने मानव संसाधन को रूपांतरित करने के लिए की जा रही विभिन्न पहलों के बारे में बताया। उन्होंने कहा कि सरकार परिणाम आधारित, परिणामोन्मुखी दृष्टिकोण के साथ काम कर रही है और सेवाओं के समयबद्ध वितरण पर ध्यान केंद्रित कर रही है। प्रधानमंत्री ने कहा कि सरकार का रोडमैप “सही इरादा, सर्वश्रेष्ठ प्रौद्योगिकी और 130 करोड़ भारतीयों के बेहतर भविष्य के लिए प्रभावी कार्यान्वयन” है।

0 0
Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleppy
Sleppy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close
%d bloggers like this: